Pahadi Games (पहाड़ी खेल)

PAHADI GAMES/पहाड़ी खेल 


हेलो दगडियों,,पहाड़ी खेल शीर्षक का यह टॉपिक आज आपको आपके बचपन के दिनों की याद दिला सकता है अगर आपने अपना बचपन पहाडों में बिताया है तो आपने भी इन में से कोई न कोई खेल जरूर खेला होगा।

गोलीचोट,अंटी या कंचे का खेल


दोस्तो गोलीचोट कंचों द्वारा खेला जाने वाला सबसे पुराना खेल है वैसे तो समय के साथ कंचों के नए नए खेल विकसित हुए पर सबसे अधिक प्रचलित खेल गोल्चोट या गोलीचोट ही रहा,यह खेल कम से कम दो लोग और अधिक से अधिक पाँच लोगों में आसानी से खेला जाता है इस पूरे खेल की खास बात यह है की इसमें कंचे या गोली को उंगली से खेला जाता है जो भी उंगली खिलाडी के सुविधाजनक हो वो उस से खेल सकता है और शायद यह जमीन में शरीर के सबसे छोटे अंग द्वारा खेला जाने वाला एक मात्र खेल है इस खेल में जमीन में एक छोटा गड्डा किया जाता है जिसे पिल के नाम से जानते है सभी खिलाड़ी खेलने का आर्डर निश्चित करने के बाद जमीन में अपनी गोली(कंचे) को लोकेशन देते है लोकेशन एक फिक्स पेरिमेटर में होनी चाहिए, और फर्स्ट पोजीशन वाला खिलाड़ी पिल की लोकेशन में होता है सभी की लोकेशन सेट हो जाने के बाद फर्स्ट आर्डर वाला खिलाड़ी बाकी गोलियों की लोकेशन चेक करके निश्चय करता है की किस खिलाड़ी की गोली हिट करनी है और वह अगर एक एक कर के सभी गोलियों को हिट कर लेता है तो वह सभी को एलिमिनेट कर के विनर बन जाता है यदि हिट नही कर पाता है तो सेकंड आर्डर वाला खिलाड़ी फिर सभी गोलियों की लोकेशन देख कर निश्चय करता है कि वह किस आर्डर की गोली को हिट करेगा? फर्स्ट आर्डर के बाद के खिलाड़ियों को किसी को भी एलिमिनेट करने के लिए उसकी गोली हिट करने के बाद पिल पर पहुँचना जरूरी होता है या फिर पहले पिल में पहुँचकर फिर गोली को हिट करना पड़ता है,इस तरह से इस खेल में इंटरेस्ट बना रहता है और लास्ट तक सरवाइव करने वाला खिलाड़ी विनर बनता है।

पिड्डू का खेल




शायद यह खेल तो आपने खेला ही होगा,बहुत रोमांच से भरा यह खेल दो टीम के बीच खेला जाता है जिसमे एक टीम पिड्डू (छोटे पत्थर से बड़े पत्थर की और जोड़ कर एक मीनार) बनाते हैं और दूसरी टीम उन्हें पिड्डू का मीनार बनाने से रोकती है। मीनार बनाने वाली टीम को एलिमिनेट करने के लिए दूसरी टीम बॉल का यूज़ करती है जो भी प्लयेर बॉल से हिट हो जाता है वो पिड्डू नही बना सकता है इस तरह से सभी एलिमिनेट होने के बाद दूसरी टीम पिड्डू बनाती है और पहली टीम पिड्डू बनने को डिफेंड करती है यही गेम में सस्पेंस और रोमांच बनाये रहता है।

घुच्ची 



अगर आपने यह खेल खेला होगा तो जरूर ही आप इस खेल के नियम जानते होंगे पर आज की प्लेस्टेशन जनरेशन शायद ही इस खेल के बारे में जानती होगी जो की इस प्रकार है, जमीन पर लाइन खीचने के बाद सभी खिलाड़ी प्रतिभागियों (मुख्यतः दो से पांच) के सिक्के प्रति खिलाडी अपनी अपनी बारी के अनुसार लाइन से आगे उचित दूरी पर एक छेद(घुच्ची) में डालता है, घुच्ची में जाने वाल सिक्का वह खिलाड़ी जीत जाता है और यदि वह किसी अन्य सिक्के को (विपरीत प्रतिभागी द्वारा निर्देशित) भी अपने सिक्के से निशाना बना लेता है तो उस पारी के सारे सिक्के वह खिलाड़ी जीत जाता है,परन्तु यदि वह किसी अन्य सिक्के को भी निशाना बना लेता है तो उसे दण्ड के रूप में एक सिक्का खेल में जमा करना पड़ता है।

कार्ड गेम


यह गेम नब्बे के दौर में खूब प्रचलित हो गया था आजकल तो काफी एनिमेटेड कार्ड्स बाजार में अवेलेबल है पर उनदिनों कार्ड्स माचिस के डब्बे के फ्रंट और बैक से बनाये जाते थे जितना यूनिक माचिस का डब्बा उतना यूनिक कार्ड खेलने का तरीका भी एकदम सिंपल था दो या तीन खिलाड़ी अपने अपने कलेक्ट किये कार्ड्स को एक एक कर के शो करते हैं सभी के कम से कम दो कार्ड शो हो जाने के बाद यदि किसी एक प्लेयर का शो किया गया कार्ड नेक्स्ट प्लेयर द्वारा शो किये कार्ड से मैच होता है तो वह सभी प्लेयर्स के शो कार्ड्स को विन कर जाता है अगर किसी भी प्लयेर के शो कार्ड्स मैच नही करते तो सभी शो कार्ड को क्लब कर के एक या दो यूनिक कार्ड सेलेक्ट किये जाते है फिर सभी कार्ड्स को शफल कर के डिस्ट्रीब्यूट करते हैं जिसके पास भी यूनिक कार्ड आते है वो सभी कार्ड्स को विन कर लेता है।इस खेल में एक ही रूल है की कार्ड को टॉप से बॉटम एक एक कर के शो करना होता है रेंडमली कोई भी कार्ड नही शो कर सकते। यह रूल ही इस खेल को इंटरस्टिंग बनाता है और पूरा खेल लक पर डिपेंड हो जाता है।

बाघ बकरी का खेल 


दोस्तों बाघ बकरी का खेल पहाड़ों में खेला जाने वाला बहुत पुराना खेल है इस खेल को बोर्ड गेम्स की तरह खेला जाता है पर लाइन्स को बोर्ड पे ड्रा करने के बजाय जमीन या फर्श पर ड्रा किया जाता है इस खेल में एक बाघ और तीन बकरियाँ होती है , एक प्लेयर बाघ को हैंडल करता है और दूसरा बकरियों को, दोनों प्लेयर को अपनी अपनी चाल में पोसिशन चेंज करनी पढ़ती है और अगर कुछ ऐसी पोसिशन खेल के दौरान बनती है तो बाघ या बकरी आउट हो जाते है जैसे-
1. अगर बाघ को बकरी के जस्ट बाद वाली पोसिशन( स्ट्रैट लाइन में ) खाली मिल जाती है तो वो बकरी को खा जाता है।
2 . अगर बाघ ऐसी पोसिशन में आ जाता है कि उसे अपनी चाल में कोई भी पोसिशन नहीं मिलती तो माना जाता है कि बकरियों ने बाघ को पहाड़ी से गिरा दिया, मतलब बाघ खेल हार जाता है।  

अड्डू का खेल और पत्थर की गोटियों का खेल 

सोर्स;गूगल इमेजेज 

जमीन पर लाइन खींच कर बॉक्सेस बनाकर लंगड़ी टाँग से खेले जाने वाला यह खेल अब कहीं भी खेलते हुए नहीं देखा जाता है इस खेल  नियम बच्चो के बचपन तक ही सीमित रह गए अगर किसी को इस खेल के नियम आज भी याद हैं तो प्लीज हम सब के साथ जरूर साझा करना । 
पत्थर की गोटियों से खेले जाने वाला खेल "चुबुक्का एक चुबुकका दो" जमींन पर उँगलियों और हाथ के पंजे से अलग अलग तरह के शेप बना कर गोटियों से खेला जाता था क्या ऐसा बचपन दिखाई देता है आजकल आपको ??

इनडोर से लेकर आउटडोर तक के खेल मोबाइल स्क्रीन में समा रहे हैं और बीते हुए बचपन के खेल भी समय के साथ साथ समय में समा रहे हैं..सच यही है कि समय के साथ साथ सब बदलता रहता है पर जो अच्छा है उसे हमेशा बनाये रखने की कोशिस होनी चाहिये।
दोस्तों वैसे तो कई और खेल भी जरूर होंगे जिन्हे में नहीं लिख पाया, आपके पास अगर कुछ ऐसी खेल की यादें  हैं तो प्लीज कमेंट में जरूर बताना। 
Pahadi Games (पहाड़ी खेल) Pahadi Games (पहाड़ी खेल) Reviewed by From the Hills on October 25, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.